9/24/17

How to grow your business fast learn from Modi | मोदी से सीखें कैसे बिजनेस में पाए सफलता


PM Narendra Modi
दोस्तों, आगे बढ़ने से पहले में आपको स्पष्ट कर दूं की में कोई पॉलिटिशियन नहीं हु और दूर-दूर तक मेरे परिवार में किसीको पॉलिटिशियन से कोई रिस्ता नहीं है. ना में कांग्रेस को सपोर्ट करता हु ना ही में भाजपा या आम आदमी पार्टी को सपोर्ट करता हूँ. सालो से जो अच्छा उमीदवार होता है उसीको वोट करता आया हूँ, पार्टी चाहे कोई भी हो. लेकिन जो राजनेता या अभिनेता में अच्छे गुण होते है उसे फॉलो करना चाहिए. क्यों की बड़े लोगो से ही हम प्रेरित हो सकते है.

पी.एम. नरेन्द्र मोदी वर्तमान में एक लोकप्रिय राजनेता माना जाता है. वो वडाप्रधान होने के साथ एक अच्छा बिजनेसमैन भी है. बिजनेसमैन के लिए आदर्श भी माने जाते है. मोदी उनकी प्रभावी बाते और सोच लोगो को विशेषरूप से प्रभावित करते है. लोग उनसे प्रेरित होते है. अगर हमें भी अपने बिज़नेस में आगे बढ़ना है तो मोदी के जीवन से कुछ सीखना होगा. आइये जानते है बिज़नेस में सफल होने के लिए मोदी के कुछ मंत्र के बारे में.

पहला मंत्र है टाइम मैनेजमेंट:
सफल बिजनेसमैन बनने के लिए उनके जीवन में सबसे महत्वपूर्ण चीजों में से एक है टाइम मैनेजमेंट. यदि कोई व्यक्ति टाइम मैनेजमेंट में सक्षम नहीं है, टाइम को अच्छी तरह मैनेज नहीं कर पता है तो वह एक सफल बिजनेसमैन कभी नहीं बन सकता है. हमारे पीएम अति व्यस्त कार्यक्रमों के बावजूद भी अपने दिनचर्या में बहुत स्ट्रिक्ट हैं. मोदी का यह पॉजिटिव पॉइंट की चर्चा केवल हमारे देश भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी होती रहती है. सफलता पाने का पहला मंत्र है समय पालन.

दूसरा मंत्र है पहले काम बाद में आराम:
बिज़नेस में सफलता पाने के लिए बिजनेसमैन के जीवन में लगातार कार्य करना पहली प्राथमिकता होती है, काम पूरा हो जाने के बाद आराम के लिए जगह होनी चाहिए. हमारे प्रधान मंत्री मोदी पहले कार्य पूरा करने में और बाद में आराम करने में विश्वास करते हैं. जब तक काम पूरा हो तब तक सोते नहीं है. इस कारण से उनका छूटी का दिन तय नहीं होता है और इतना ही नहीं सुना है की आज तक उन्होंने एक भी छूटी नहीं ली है. सफलता का दूसरा मंत्र है लगातार कार्य करते रहो.

तीसरा मंत्र है सहयोगी में काम को बाँटना:
सफल बिजनेसमैन वो बन सकते है जो अपने कर्मचारियों में अच्छी तरह काम को बाँट सकते हो. इसके अलावा, उनके काम पर नज़र रखना भी जरूरी होता है. इसकी आवश्यकता के अनुसार सहायता प्रदान करना भी जरूरी होता है. हमारे प्रधान मंत्री मोदी भी इस प्रकृति के है. वो प्रत्येक सहयोगी मंत्रालय की गतिविधियों का ट्रैक रखते है और आवश्यकता होने पर उनके काम में हस्तक्षेप भी करते है. सफलता का तीसरा मंत्र है सारे काम खुद नहीं करने चाहिए.

चौथा मंत्र है जनसंपर्क बनाये रखना:
बिज़नेस को बढ़ाने के लिए कोई भी बिज़नेस को जनता तक पहुँचाना जरूरी होता है. अपने बिज़नेस को पब्लिक तक पहुंचाने के लिए पब्लिक रिलेशन की आवश्यकता होती है. प्रधान मंत्री मोदी इस कार्य में एक्सपर्ट हैं. उनकी यह खासियत चुनाव के दौरान अक्सर देखि जाती है. कई सारे मौके पर वो प्रोटोकॉल तो तोड़ कर लोगों को मिलते है और लोगों से मिलने का किसी मौके को नहीं छोड़ते है. इसके साथ-साथ वे अपने काम को अच्छी तरह लोगो के सामने पेश करते हैं. यही बात वह अपने मंत्रियों को भी बताते है. सफलता का चौथा मंत्र है नए नए लोगो से सम्बन्ध बनाये और संपर्क बनाये रखे और उनको अपनी प्रोडक्ट और सेवा के बारे में अच्छी तरह बताये.

पांचवा मंत्र है सकारात्मक ब्रांडिंग करना:
अच्छे बिजनेसमैन की यह विशेषता होती है की अपनी प्रोडक्ट या सेवा का सकारात्मक हिस्सा जनता तक पहुंचाए. प्रधान मंत्री मोदी की यह भी एक विशेषता है. हर छोटी से छोटी चीज का ब्रांडिंग बहुत प्रभावी तरीके से करते है और उसको एक इवेंट में बदल देते है. सफलता का पांचवा मंत्र है अपनी प्रोडक्ट या सेवा की अच्छी तरह ब्रांडिंग करना.

छठा मंत्र है एक अच्छा कम्युनिकेटर बनना:
एक अच्छा और सफल बिजनेसमैन वह बन सकता है जो अपनी बात को और अपने विचारों को प्रभावी ढंग से ग्राहकों तक पंहुचा सके. उसके लिए जरूरी होता है हाजिरजवाबी और एक अच्छा कम्युनिकेटर होना. हमारे प्रधान मंत्री की यह एक बड़ी खाशियत है. सफलता का छठा मंत्र है एक अच्छा वक्ता बनना.

सातवा मंत्र है प्रयोग करने में संकोच करें:
एक सफल बिजनेसमैन की क्वॉलिटी यह होती है कि वह उसी तरह से नहीं चला करते जो आगे से चले आए है, लेकिन कुछ नए नए प्रयोग करते रहते है.  हमारें प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी इस गुणवत्ता के लिए जाने  जाते  है. नोटबंदी और जीएसटी जैसे कई सारे प्रयोग कर चुके है. सफलता पाने का सातवा मंत्र है बिज़नेस में नए नए तरीके आजमाने चाहिए.
Related Posts:
नरेंद्र मोदी इतनी स्फूर्ति में कैसे रहते है, How does Narendra Modi live so much Enthusiastic

No comments:

Post a Comment