8/18/17

जानलेवा स्वाइन फ्लू से कैसे बच सकते है, Swine Flu symptoms, home remedies and prevention

जानलेवा स्वाइन फ्लू वर्तमान में तहलका मचा रहा है. सुबह वर्तमान पत्र हाथमे लेते है और पढ़ना शुरू करते है तो सबसे पहला न्यूज़ स्वाइन फ्लू का होता है. वर्तमान में गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक के आलावा इंडिया के कई सारे राज्यों में स्वाइन फ्लू का रोग फ़ैल रहा है. कई सरे मरीज को हॉस्पिटल में दाखिल किये गए है. २०१७ का  यह सबसे बड़ी गंभीर घटना है. आयुर्वेद में एक कहावत है, उपचार से अच्छा है की रोग को ही न होने दे. Prevention is better than cure. थोड़ी सी सावधानी रखने से हम और हमारा परिवार यह जानलेवा गंभीर बीमारी से बच सकते है. वैसे भी स्वाइन फ्लू से डरना नहीं चाहिए क्योकि स्वाइन फ्लू के उपचार मौजूद है और समय पर इलाज किया जाये तो हम स्वाइन फ्लू से निजात पा सकते है. फिल्म स्टार आमिर खान को भी स्वाइन फ्लू हुवा था और इलाज कराने से वो एकदम स्वस्थ हो चूका है. हमें स्वाइन फ्लू से डरना नहीं है, बस उसे समझना है और केयर लेनी है. आइये जानकारी पाते है घरेलु देसी उपचार करके कैसे बचे स्वाइन फ्लू से.

स्वाइन फ्लू क्या है :
स्वाइन फ्लू का वायरस सूअर के जरिये इन्सान के शरीर में एंटर होते है. आमतौर पर पशुओं और पालतू जानवरों को होने वाले वायरस के हमले कभी इंसानों तक नहीं पहुँचते.  इसकी वजह यह है कि जीव विज्ञान की दृष्टि से इंसानों और जानवरों की बनावट में फर्क है. अभी देखा यह गया था कि जो लोग सूअर पालन के व्यवसाय में हैं और लंबे समय तक सूअरों के संपर्क में रहते हैं, उन्हें स्वाइन फ्लू होने का जोखिम अधिक रहता है.

कैसे फैलता है स्वाइन फ्लू के वायरस :
स्वाइन फ्लू बेहद संक्रामक  रोग है. स्वाइन फ्लू का प्रभाव एक व्यक्ति से  व्यक्ति तक जल्द फैलता है. जब कोई स्वाइन फ्लू का मरीज छींकता है या खांसता है तब स्वाइन फ्लू के वायरस भी उनके शरीर से बहार निकलते है और यह वायरस हवामें २४ घंटो तक रहता है. ये हवामे रहे वायरस अगर साँस के जरिये कोई व्यक्तिके के शरीर में प्रवेशते है तो वो व्यक्ति भी स्वाइन फ्लू का शिकार बन जाता है. 

स्वाइन फ्लू के क्या है लक्षण :
स्वाइन फ्लू के लक्षण यानि स्वाइन फ्लू सिम्पटम्स भी सामान्य एन्फ्लूएंजा के लक्षणों की तरह ही होते हैं। बुखार, तेज ठंड लगना, गला खराब हो जाना, मांसपेशियों में दर्द होना, तेज सिरदर्द होना, खाँसी आना, कमजोरी महसूस करना आदि लक्षण इस बीमारी के दौरान उभरते हैं। इस साल इंसानों में जो स्वाइन फ्लू का संक्रमण हुआ है,वह तीन अलग-अलग तरह के वायरसों के सम्मिश्रण से उपजा है। फिलहाल इस वायरस के उद्गम अज्ञात हैं।

स्वाइन फ्लू से बचने के घरेलु उपाय :
रोज सुबह खली पेट दो लहसुन की कलियाँ खाइए.

रोज एलोवेरा जूस का सेवन करे. इससे रोगप्रतिकारक शक्ति बढ़ती है और स्वाइन फ्लू के वायरस से बचने में हमारी सहायता करेगा.

रोज हल्दी मिलकर दूध पिए या पानी में हल्दी मिलाके पिए. हल्दी में करक्यूमिन होता है जो स्वाइन फ्लू से बचने में मददरूप होता है. 

आँवला का जूस पिए. आँवला में विटामिन सी होता है जो स्वाइन फ्लू से बचने में मदद करता है.

रोज सुबह तुलसी के पत्ते खाये. तुलसी के पत्ते खाने से इम्युनिटी बढ़ती है.

कपूर के छोटे टुकड़े को आलू या केले के साथ मिलाकर खाए. महीने में एक बार यह प्रयोग करना पर्याप्त है.

थोड़ी सी इलाइची, कपूर और तुलसी के पत्ते को मिक्स करके कपडे के टुकड़े में बांध कर रखें और रोज पांच से छे बार सूंघे. ऐसा करने से स्वाइन फ्लू के वायरस से आप प्रभावित नहीं होंगे.

रोज तीन से चार नीम के पत्ते खाये जो आपको स्वाइन फ्लू से बचाएगा.

रोज निम्बू पानी पिए. नीम्बु में भी आँवला की तरह विटामिन सी होता है जो स्वाइन फ्लू से  बचाने में हमारी मदद करता है.

दोस्तों, आ उपयोगी पोस्ट को आपके सभी दोस्तों और रिस्तेदारो को शेयर करे. अगर आप स्वाइन फ्लू से बचने  घरेलु उपाय के बारे में हिंदी वीडियो देखना चाहते हो तो यहाँ क्लिक करे. यह वीडियो भी दुसरो को शेयर  करे.

No comments:

Post a Comment